शनिवार, 14 अगस्त 2010

जय हिंद ...कुछ सुझाव

८वा परम सुझाव
पिता पालक साथ सही गुरु हो
पुत्र हमैशा शिष्य सा रुबरू हो....."प्यास"

७वा परम सुझाव
बुढापा हमैसा आदरणिय हो
हर सुझाव हो, हर निर्णय हो...."प्यास"

६ वा परम सुझाव
हर कोई हमैसा शिष्य रहे
देश का सुदंर भवि्ष्य रहे...."प्यास"

पांचवा परम सुझाव
नारी देवी हो, नारी न दबी दबी हो
ममता हो तो देश की महान छबी हो....."प्यास"

एक और परम सुझाव
घर के साथ साथ पडोस की सफाई रहे
बेडागर्क होने को कभी न कोई खाई रहे....."प्यास"

एक परम सुझाव...जय हिन्द
हर जो स्वयम का आलोचक हो
देश की हर स्तिथी चकाचक हो....."प्यास"

देश को सहज महान करे हम,,,देश वासीयो को जान करे हम...

सबका बढने का एक ही तरीका है
दुसरो को बढाना, सही सलीका है....."प्यास"
--------------------------------

पहले बने महान हम
जी फिर, बोले वंदेमातरम

सब सही सही करे हम
बस सच सच बोले हम
जी फिर, बोले वंदेमातरम

एक दूजे का मान करे हम
सब को प्रीत प्रदान करे हम
जी फिर, बोले वंदेमातरम

आबादी बढत रोके हम
बेरोजगार न रहे हम
जी फिर, बोले वंदेमातरम

भूख, गरीबी भगाए हम
गंदगी बस मिटाएँ हम
जी फिर, बोले वंदेमातरम

कुछ ऐसा काम करे हम
देश को महान करे हम
जी फिर, बोले वंदेमातरम

महमानो को लुभाये हम
विषय "प्यास" न रखे हम
जी फिर, बोले वंदेमातरम

5 टिप्‍पणियां:

  1. श्रद्धा जी .... वेब साइट और भी है,,,पर यह नयी है...धन्यवाद आपकी टिप्पणी के लिये..
    मैं कवि, मूल हूं,,,,कहां किसे कबूल हूं...

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं